HTET Arthashastra Question Paper Download Free Pdf In Hindi

HTET Arthashastra Question Paper Download Free Pdf In Hindi

एचटीईटी अर्थशास्त्र प्रश्न पत्र हिंदी में मुफ्त पीडीएफ डाउनलोड –  HTET Arthashastra की तैयारी करने के लिए उम्मीदवारों को क्वेश्चन पेपर ,प्रीवियस ईयर पेपर इत्यादि की जरूरत पड़ेगी. जिससे कि वह अपनी परीक्षा की तैयारी ज्यादा अच्छे से कर पाए. इसलिए इस पोस्ट में htet economics question paper,एचटीईटी अर्थशास्त्र से संबंधित काफी महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर दिए है. यहाँ आपको प्रश्न सिलेबस के अनुसार दिए गए है .और यह प्रश्न पहले भी एचटीईटी अर्थशास्त्र की परीक्षा में आ चुके है आगे भी इनमें से काफी प्रश्न पूछे जाएँगे .इन्हें आप ध्यान से पढ़े ,यह आपके लिए फायदेमंद होंगे

श्रवण ह्रास से ग्रसित बच्चे कक्षा में किस सबसे मुख्य नैराश्य (कुण्ठा) का सामना करते हैं ?
(A) दूसरों के साथ सम्प्रेक्षण करने तथा सूचनाओं को बाँटने में अक्षमता
(B) दूसरे विद्यार्थियों के साथ परीक्षा देने में अक्षमता
(C) प्रस्तावित पाठ्य-पुस्तक को पढ़ने की अक्षमता
(D) खेल-कूद में भागीदारिता निभाने में अक्षमता
Answer
दूसरों के साथ सम्प्रेक्षण करने तथा सूचनाओं को बाँटने में अक्षमता
“डिस्लेक्सिया’ मुख्य रूप से की समस्या से सम्बन्धित है।
(A) सुनने
(B) पढ़ने
(C) बोलने
(D) बोलने व सुनने
Answer
पढ़ने
निम्नलिखित में से कौन-सा मुख्य रूप से आनुवंशिकता सम्बन्धी कारक है ?
(A) आँखों का रंग
(B) सामाजिक गतिविधियों में भागीदारिता
(C) समकक्ष व्यक्तियों के समूह के प्रति अभिवृत्ति
(D) चिन्तन पैटर्न
Answer
आँखों का रंग
शिक्षकों को अपने विद्यार्थियों की त्रुटियों का अध्ययन करना चाहिए, क्योंकि वे प्रायः ……….की ओर संकेत करती हैं।
(A) योग्यताओं के अनुसार समूह बनाने हेतु दिशा-निर्देश
(B) भिन्न प्रकार की पाठ्यचर्या की आवश्यकता
(C) उनके ज्ञान की सीमा
(D) आवश्यक उपचारात्मक युक्तियाँ
Answer
आवश्यक उपचारात्मक युक्तियाँ
एक शिक्षिका अपने शिक्षण में दृश्य-श्रव्य सामग्रियों और शारीरिक गतिविधियों का प्रयोग करती हैं, क्योंकि
(A) वे शिक्षक को आराम देते हैं।
(B) वे प्रभावी आकलन को सुगम बनाते
(C) वे शिक्षार्थियों को वैविध्य उपलब्ध कराते हैं।
(D) इनमें अधिकतम इन्द्रियों का उपयोग सीखने को संवर्द्धित करता है।
Answer
इनमें अधिकतम इन्द्रियों का उपयोग सीखने को संवर्द्धित करता है।
कोलबर्ग के अनुसार, सही और गलत के प्रश्न के बारे में निर्णय लेने में शामिल चिन्तन-प्रक्रिया को कहा जाता है
(A) सहयोग की नैतिकता
(B) नैतिक तर्कणा
(C) नैतिक यथार्थवाद
(D) नैतिक दुविधा
Answer
नैतिक तर्कणा
जब पूर्व का अधिगम नई स्थितियों के सीखने को बिल्कुल प्रभावित नहीं करता, तो यह…….. कहलाता है।
(A) अधिगम का शून्य स्थानान्तरण
(B) अधिगम का निरपेक्ष स्थानान्तरण
(C) अधिगम का सकारात्मक स्थानान्तरण
(D) अधिगम का नकारात्मक स्थानान्तरण
Answer
अधिगम का शून्य स्थानान्तरण
चिन्तन अनिवार्य रूप से है एक
(A) संज्ञानात्मक गतिविधि
(B) मनोगतिक प्रक्रिया
(C) मनोवैज्ञानिक परिघटना
(D) भावात्मक व्यवहार
Answer
संज्ञानात्मक गतिविधि
एक बाल केन्द्रित कक्षा में, बच्चे सामान्यतः सीखते हैं
(A) वैयक्तिक और सामूहिक, दोनों रूपों में
(B) मुख्य रूप से शिक्षकों से
(C) वैयक्तिक रूप से
(D) समूहों में
Answer
वैयक्तिक और सामूहिक, दोनों रूपों में
प्रतिभाशाली विद्यार्थी अपनी क्षमताओं को तब विकसित कर पाएँगे जब
(A) बार-बार उनकी परीक्षा होगी
(B) वे अन्य विद्यार्थियों के साथ अधिगम-प्रक्रिया से जुड़ते हैं। परीक्षा शास्त्र
(C) उन्हें अन्य विद्यार्थियों से अलग किया जाएगा
(D) वे निजी कोचिंग कक्षाओं में पढ़ेंगे
Answer
वे अन्य विद्यार्थियों के साथ अधिगम-प्रक्रिया से जुड़ते हैं। परीक्षा शास्त्र
एक अच्छी पाठ्य-पुस्तक ……….., से बचती है।
(A) लैंगिक समानता
(B) सामाजिक उत्तरदायित्व
(C) लैंगिक पूर्वाग्रह
(D) लैंगिक संवेदनशीलता
Answer
लैंगिक पूर्वाग्रह
पियाजे के अनुसार, संज्ञानात्मक विकास के किस चरण पर बच्चा ‘वस्तु स्थायित्व’ को प्रदर्शित करता है ?
(A) मूर्त संक्रियात्मक चरण
(B) औपचारिक संक्रियात्मक चरण
(C) संवेदीप्रेरक चरण
(D) पूर्व-संक्रियात्मक चरण
Answer
पूर्व-संक्रियात्मक चरण
अभिप्रेरणा के सिद्धान्तों के अनुसार, एक शिक्षक …….. के द्वारा सीखने को संवर्द्धित कर सकता है।
(A) विद्यार्थियों से वास्तविक अपेक्षाएँ रखने
(B) अपेक्षाओं को एकरूप स्तर रखने
(C) विद्यार्थियों से किसी प्रकार की अपेक्षाएँ न रखने
(D) विद्यार्थियों से बहुत उच्च अपेक्षाएँ रखने
Answer
विद्यार्थियों से वास्तविक अपेक्षाएँ रखने
विकास शुरू होता है
(A) उत्तर-बाल्यावस्था से
(B) प्रसवपूर्व अवस्था से
(C) शैशवावस्था से
(D) पूर्व-बाल्यावस्था से
Answer
प्रसवपूर्व अवस्था से
व्यवहार का ‘करना’ पक्ष………..में आता
(A) सीखने के गतिक (कोनेटिव) क्षेत्र
(B) सीखने के मनोवैज्ञानिक क्षेत्र
(C) सीखने के संज्ञानात्मक क्षेत्र
(D) सीखने के भावात्मक क्षेत्र
Answer
सीखने के संज्ञानात्मक क्षेत्र
विज्ञान एवं कला प्रदर्शनियाँ, संगीत एवं नृत्य प्रस्तुतियाँ तथा विद्यालय-पत्रिका निकालना ……………. के लिए हैं।
(A) शिक्षार्थियों को सृजनात्मक मार्ग उपलब्ध कराने
(B) विभिन्न व्यवसायों के लिए विद्यार्थियों को प्रशिक्षित करने
(C) विद्यालय का नाम रोशन करने
(D) अभिभावकों को सन्तुष्ट करने
Answer
शिक्षार्थियों को सृजनात्मक मार्ग उपलब्ध कराने
पियाजे के अधिगम के संज्ञानात्मक सिद्धान्त के अनुसार, वह प्रक्रिया जिसके द्वारा संज्ञानात्मक संरचना को संशोधित किया जाता है, कहलाती है।
(A) प्रत्यक्षण
(B) समायोजन
(C) समावेशन
(D) स्कीमा
Answer
समावेशन
एक शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों की सदैव इस रूप में सहायता करती है, कि वे एक विषय-क्षेत्र से प्राप्त ज्ञान को दूसरे विषय-क्षेत्रों के ज्ञान के साथ जोड़ सकें। इससे……….. को बढ़ावा मिलता है।
(A) पुनर्बलन
(B) ज्ञान के सह-सम्बन्ध एवं अन्तरण
(C) वैयक्तिक भिन्नताओं
(D) शिक्षार्थी-स्वायत्तता
Answer
ज्ञान के सह-सम्बन्ध एवं अन्तरण
शिक्षकों को यह सलाह दी जाती है, कि वे अपने शिक्षार्थियों को सामूहिक गतिविधियों में शामिल करें, क्योंकि सीखने को सुगम बनाने के अतिरिक्त, ये…………, में भी सहायता करती हैं।
(A) दुश्चिता
(B) समाजीकरण
(C) मूल्य द्वन्द्व
(D) आक्रामकता
Answer
समाजीकरण
समावेशी शिक्षा उस विद्यालयी शिक्षा व्यवस्था की ओर संकेत करती है
(A) विशेष आवश्यकता वाले बच्चों को विशिष्ट विद्यालयों के माध्यम से शिक्षा देने को प्रोत्साहित करती है।
(B) केवल बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर बल देती
(C) जो सभी निर्योग्य बच्चों को शामिल करती है।
(D) जो उनकी शारीरिक, बौद्धिक, सामाजिक, भाषिक या अन्य विभिन्न योग्यता स्थितियों को ध्यान में रखे बगैर सभी बच्चों को शामिल करती
Answer
जो उनकी शारीरिक, बौद्धिक, सामाजिक, भाषिक या अन्य विभिन्न योग्यता स्थितियों को ध्यान में रखे बगैर सभी बच्चों को शामिल करती
एक शिक्षिका अपने शिक्षार्थियों को अनेक तरह की सामूहिक गतिविधियों में व्यस्त रखती है, जैसे-समूह-चर्चा, समूहपरियोजनाएँ, भूमिका निर्वाह , आदि। यह सीखने के किस आयाम को उजागर करता है?
(A) सामाजिक गतिविधि के रूप में अधिगम
(B) मनोरंजन द्वारा अधिगम
(C) भाषा-निर्देशित अधिगम
(D) प्रतियोगिता-आधारित अधिगम
Answer
सामाजिक गतिविधि के रूप में अधिगम
जब एक शिक्षिका दृष्टि बाधित शिक्षार्थी को कक्षा के अन्य शिक्षार्थियों के साथ सामूहिक गतिविधियों में शामिल करती है, तो वह
(A) कक्षा के लिए सीखने हेतु बाधाएँ उत्पन्न कर रही है।
(B) समावेशी शिक्षा की भावना के अनुसार कार्य कर रही है।
(C) सभी शिक्षार्थियों में दृष्टि बाधित शिक्षार्थी के प्रति सहानुभूति विकसित करने में मदद कर रही है।
(D) दृष्टिबाधित शिक्षार्थी पर सम्भवतः तनाव बढ़ा रही है।
Answer
समावेशी शिक्षा की भावना के अनुसार कार्य कर रही है।
बहु विधि बुद्धि सिद्धांत के अनुसार सभी प्रकार के पशुओं, खनिजों और पेड़-पौधों को पहचानने और वर्गीकृत करने की योग्यता …………कहलाती है।
(A) तार्किक-गणितीय बुद्धि
(B) प्राकृतिक बुद्धि
(C) भाषिक बुद्धि
(D) स्थानिक बुद्धि
Answer
प्राकृतिक बुद्धि
“अधिकांश व्यक्तियों की बुद्धि औसत होती है, बहुत कम लोग प्रतिभा सम्पन्न होते हैं और बहुत कम व्यक्ति मन्द बुद्धि के होते हैं।” यह कथन.. …., के प्रतिस्थापित सिद्धांत पर आधारित है।
(A) बुद्धि आर जातीय विभिन्नताओं
(B) बुद्धि के वितरण
(C) बुद्धि की वृद्धि
(D) बुद्धि और लैंगिक विभिन्नताओं
Answer
बुद्धि के वितरण
सहयोगी अधिगम में अधिक उम्र के प्रवीण विद्यार्थी, छोटे और कम निपुण विद्यार्थियों की मदद करते हैं। इससे
(A) गहन प्रतियोगिता होती है
(B) उच्च नैतिक विकास होता है
(C) समूहों में द्वन्द्व होता है
(D) उच्च उपलब्धि और आत्म-सम्मान विकसित होता है
Answer
उच्च उपलब्धि और आत्म-सम्मान विकसित होता है
Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!