वायुमण्डल की परतों की रोचक जानकारी

वायुमण्डल की परतों की रोचक जानकारी

आज हम आपके लिए इस पोस्ट में विज्ञान से संबंधित वायुमण्डल की परतों, के बारे में बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारी इस पोस्ट में दे रहे हैं जो कि 10th 10+2 की परीक्षाओं में तथा और भी प्रकार की परीक्षाओं में जैसे SSC CGL, बैंकिंग RPF,all Police exams में वायुमंडल से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं यह जानकारी आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकती है इसलिए अगर यह जानकारी आपको पसंद आए तो इसे ध्यान से पढ़े और अपने दोस्तों के साथ शेयर भी करें

1-क्षोभमण्डल
: – यह मण्डल जैव मण्डलीय पारिस्थितिकी तंत्र के लिए सर्वाधिक महत्त्वपूर्ण है क्योंकि मौसम संबंधी सारी घटनाएं इसी में घटित होती हैं।
: – प्रति 165 मीटर की ऊंचाई पर वायु का तापमान 1 डिग्री सेल्सियस की औसत दर से घटता है। इसे सामान्य ताप पतन दर कहते है।
: – इस मण्डल की सीमा विषुवत वृत्त के ऊपर 18 किमी की ऊंचाई तक तथा ध्रवों के ऊपर लगभग 8 किमी तक है।

2-समतापमण्डल
: – इसकी मोटाई 50 किमी से 55 किमी तक है।
: – इस मण्डल में तापमान स्थिर रहता है तथा इसके बाद ऊंचाई के साथ बढ़ता जाता है।
: – समताप मण्डल बादल तथा मौसम संबंधी घटनाओं से मुक्त रहता है।
: – इस मण्डल के निचले भाग में जेट वायुयान के उड़ान भरने के लिए आदर्श दशाएं हैं।
: – इसकी ऊपरी सीमा को ‘स्ट्रैटोपाज’ कहते हैं।
: – इस मण्डल के निचले भाग में ओज़ोन गैस बहुतायात में पायी जाती है। इस ओज़ोन बहुल मण्डल को ओज़ोन मण्डल कहते हैं।
: – ओज़ोन गैस सौर्यिक विकिरण की हानिकारक पराबैंगनी किरणों को सोख लेती है और उन्हें भूतल तक नहीं पहुंचने देती है तथा पृथ्वी को अधिक गर्म होने से बचाती हैं।

3-मध्यमण्डल
: – इसका विस्तार 50-55 किमी से 80 किमी तक है।
: – इस मण्डल में तापमान ऊंचाई के साथ घटता जाता है तथा मध्यमण्डल की ऊपरी सीमा मेसोपाज पर तापमान 80 डिग्री सेल्सियस बताया जाता है।
4-आयन मण्डल
: – इस मण्डल में ऊंचाई के साथ ताप में तेजी से वृद्धि होती है।
: – आयन मण्डल, तापमण्डल का निचला भाग है जिसमें विद्युत आवेशित कण होते हैं जिन्हें आयन कहते हैं।
: – ये कण रेडियो तरंगों को भूपृष्ठ पर परावर्तित करते हैं और बेतार संचार को संभव बनाते हैं।
5-बाह्यमण्डल
: – इसे वायुमण्डल का सीमांत क्षेत्र कहा जाता है। इस मण्डल की वायु अत्यंत विरल होती है।
: – यहां गैसों का घनत्व बहुत कम पाया जाता है , यहां हाइट्रोजन व हीलियम गैसों की प्रधानता होती है !

वायुमंडल से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर 

1. वायुमंडल में सबसे अधिक कौन-सी गैस पायी जाती है
उत्तर.  नाइट्रोजन 
2. वायुमंडल का स्थायी तत्व क्या है
उत्तर.  जलवाष्प 
3. पृथ्वी का वायुमंडल किसके द्वारा गर्म होता है
उत्तर.  विकिरण द्वारा 
4. वायुमंडम में कौन-सी अक्रिय गैस सबसे अधिक है
उत्तर.  आर्गन 
5. कौन-सी गैस ग्रीनहाउस प्रभाव के लिए उत्तरदायी है
उत्तर.  कार्बन डाइऑक्साइड (CO2
6. सूर्य की तीव्र किरणों से झुलसने में कौन-से गैस हमारी रक्षा करती है
उत्तर.  ओजोन 
7. भू-पृष्ठ से परावर्तित अवरक्त विकिरण के अवशोषण द्वारा-भू-वायुमंडल में तापमान वृ​द्धि की क्रिया को क्या कहते हैं
उत्तर. ग्रीन हाउस प्रभाव
8. वायुमंडल में नाइट्रोजन की मात्रा कितने % है
उत्तर. 78%
9. क्षोभमंडल की धरातल से औसत ऊँचाई कितनी है
उत्तर.  14 किमी 
10. किस मंडल को संवहनमंडल भी कहा जाता है
उत्तर.  क्षोभमंडल 

11. पृथ्वी के वायुमंडल का सबसे अधिक घनत्व कहाँ होता है
उत्तर.  क्षोभमंडल में 
12. वायुमंडल में दैनिक मौसम परिवर्तन किसके कारण होते हैं
उत्तर.  क्षोभमंडल के कारण 
13. ओजोन परत कहाँ स्थित है
उत्तर. समताप मंडल 
14. समताप मंडल में ओजोन पर्त का क्या कार्य है
उत्तर.  भूतल पर पराबैंगनी विकिरणपात को रोकना 
15. दीर्घ रेडियो तरंग पृथ्वी के किस भाग से परावर्तित होती है
उत्तर.  आयन मंडल से 
16. वायुमंडल में कौन-सा रसायन ओजोन स्तर के अवक्षय का कारण है
उत्तर.  क्लोरो-फ्लोरोकर्बन 
17. वायुमंडल के किस भाग में जलवाष्प की कुल मात्रा का 90% भाग विद्यमान रहता है
उत्तर.  क्षोभमंडल में 
18. वायुमंडल का कौन-सा भाग रसायन मंडल का एक भाग है
उत्तर.  ओजोन मंडल 
19. हवाई जहाज उड़ने के लिए कौन-सा मंडल उपयुक्त है
उत्तर.  समताप मंडल 
20.  वायुमंडल की निचली परत क्या कहलाती है.
उत्तर. क्षोभमंडल

आज हमने इस पोस्ट में आपको वायुमंडल की परतें वायुमंडल की परतें in hindi वायुमण्डल परतें वायुमंडल की परिभाषा वायुमंडल की सबसे निचली परत वायुमंडल pdf क्षोभमंडल की ऊंचाई वायुमंडल का महत्वसे संबंधित बहुत महत्वपूर्ण जानकारी दी है यह जानकारी आपके लिए काफी फायदेमंद है अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और अगर इसके बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके बताएं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!