हरियाणा का भूगोल / Geography of Haryana in Hindi

हरियाणा का भूगोल / Geography of Haryana in Hindi

जैसा कि हम जानते हैं हरियाणा की स्थापना 1 नवंबर 1966 को हुई थी उसके बाद ही हरियाणा को अपनी एक अलग पहचान मिली और हरियाणा एक अलग राज्य निकल कर आया. हरियाणा भारत का उत्तर पश्चिमी राज्य है. जोकि 27.39′ से 30.55′ उ. अक्षांश और 74.28′ से 77.36′ पू. रेखांश के मध्य स्थित है. हरियाणा के उत्तर पश्चिम में पंजाब और उत्तर पूर्व में हिमाचल प्रदेश राज्य है. यमुना नदी हरियाणा और उत्तर प्रदेश की सीमा को निर्धारित करते हुए बह रही है.इसका सबसे बड़ा शहर – फरीदाबाद है .इसकी राजधानी – चण्डीगढ़ है. इसकी जनसंख्या -लगभग 2,53,51,462 है और क्षेत्रफल – 44,212 किमी² है .

हरियाणा राज्य के पश्चिमी दक्षिण में राजस्थान है. दक्षिण पूर्व में केंद्र शासित राज्य है. हरियाणा भारत का भू – आवेष्ठित राज्य है. दिल्ली का क्षेत्रफल 44,212 वर्ग किलोमीटर है जो देश के कुल क्षेत्रफल 1.34% है. F.S.I के अनुसार राज्य में वन आवरण 1,586 वर्ग किलोमीटर है. जो राज्य के भौगोलिक क्षेत्र का 3.64% है. और राज्य में  वृक्ष आवरण  1,282 वर्ग किलोमीटर है भौगोलिक क्षेत्र का 3.16% है.

हरियाणा एक नजर में

  • राजधानी – चण्डीगढ़
  • सबसे बड़ा शहर – फरीदाबाद
  • जनसंख्या – 2,53,51,462
  • घनत्व – 573 /किमी²
  • क्षेत्रफल – 44,212 किमी²
  • ज़िले – 22
  • राजभाषा – हिन्दी 
  • गठन – 1 नवम्बर 1966
  • राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी
  • मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
  • हरियाणा की अक्षांशीय स्थिति – 27°39′ से 30°35′ उत्तरी अक्षांश 
  • हरियाणा की देशान्तरीय स्थिति – 74°28′ से 77°36′ पूर्वी देशान्तर 
  • क्षेत्रफल की दृष्टि से हरियाणा का भारत में स्थान – 20 वां (भारत का 1.34%)
  • हरियाणा की जलवायु – आर्द्र उपोष्ण तथा उपोष्ण स्टेपी
  • हरियाणा में ऋतुएं – 3 (ग्रीष्म , वर्षा तथा शीत ऋतु )
  • हरियाणा में औसत वार्षिक वर्षा – 30 से 110 सेमी•
  • सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान – उत्तरी भाग का शिवालिक क्षेत्र (200 सेमी• तक )
  • न्यूनतम वर्षा वाला स्थान – दक्षिणी एवं दक्षिणी पश्चिमी भाग (35 सेमी• से भी कम )
  • राष्ट्रीय उद्यानों की संख्या – 2 (सुल्तानपुर , कलेसर )
  • हरियाणा में अभ्यारण्यों की संख्या –
  • गेहूं का सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला – सिरसा 
  • संयुक्त रूप से धान का कटोरा – करनाल , कैथल , कुरुक्षेत्र तथा जींद 
  • गन्ने का सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला – यमुनानगर 
  • कपास का सर्वाधिक उत्पादन वाला जिला – सिरसा 
  • हरियाणा में फ़ूड पार्क – 4 नरवाना (जींद ) , राई (सोनीपत ) , साहा (अम्बाला ) तथा डबवाली (सिरसा )
  • हाई टेक टेक्नोलॉजी पार्क – गुरुग्राम 
  • पेट्रोकेमिकल हब – पानीपत में है 
  • रत्न व आभूषण पार्क – गढ़ी हरसरू में है 
  • आई टी पार्क – पंचकूला व आई एम टी मानेसर 
  • साइबर सिटी तथा मेडिसिटी – गुरुग्राम 
  • भारत में 100% ग्रामीण विद्युतीकरण का लक्ष्य सबसे पहले हरियाणा ने 1970 में प्राप्त किया था.

हरियाणा की प्रमुख ऋतुएं

ग्रीष्म ऋतु :- इसका समय ( सामान्यत:)  मध्य मार्च से जून के अंत तक होता है. इसका  औसत तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है.इसका अधिकतम तापमान  मई-जून में  45 – 46  डिग्री सेल्सियस तक रहता है.

शीत ऋतु :- इसका समय (सामान्यत:) मध्य दिसंबर से मार्च तक होता है. इसका औसतन तापमान 12 डिग्री सेल्सियस के आस पास रहता है.  इसका न्यूनतम तापमान दिसंबर व जनवरी में 3-4 डिग्री सेल्सियस तक रहता है. इसकी मुख्य बिंदु पुत्री शिवालिक क्षेत्र में शीतकाल नवरात्रि का तापमान हिमांक बिंदु तक पहुंचाता है दक्षिणी पश्चिमी भाग में शुष्क शीत ऋतु में पाई जाती है.

वर्षा ऋतु :- इसका समय (सामान्यत:) जुलाई  के आरंभ से मध्य दिसंबर तक होता है.यहां की वार्षिक औसत वर्षा 30 सेंटीमीटर ( 300 मिमी) से 110 सेंटीमीटर (1,100 मिमी ) के मध्य 70 सेंटीमीटर रहती हैं.

हरियाणा की प्रमुख फसलें

रबी (असाढ़ी)– यह फसल सर्दी में होती है| अक्टूबर-नवम्बर में बोई जाती है और मार्च-अप्रैल में कटाई की जाती है| रबी फसल में गेंहू, जौ, चना, सरसों उगाये जाते हैं|
खरीफ (सावणी) -यह फसल वर्षा शुरू होने पर आमतौर पर मानसून सक्रिय होने पर जून-जुलाई में बोई जाती है और सर्दी की शुरुआत होने पर सितम्बर-अक्टूबर में काट ली जाती है| इसमें ज्वार, बाजरा, ग्वार, मूंग, मक्का, कपास आदि उगाये जाते हैं|
पानी की अच्छी उपलब्धता वाले क्षेत्रों में धान और गन्ना (ईख) भी उगाया जाता है|

हरियाणा की प्रमुख नदियां

  1. यमुना नदी
  2. घग्गर नदी
  3. साहिबी नदी
  4. टांगरी नदी
  5. मारकंडा नदी
  6. दोहन नदी
  7. कृष्णावती नदी
  8. इंदौरी नदी

हरियाणा की झीलें

सुल्तानपुर झील :- यह फर्रुखनगर में स्थित है यहां पर प्रवासी पक्षी पहुंचते हैं और यहां पर दूर-दूर से  सैलानी आते हैं

बड़खल झील :-   यह झील दिल्ली से लगभग 31 किलोमीटर तक दिल्ली मथुरा राष्ट्रीय राज्य मार्ग से मात्र 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. यह झील का निर्माण  1947 में सिंचाई परियोजना के अंतर्गत किया गया था.

हरियाणा में पाए गए प्राचीनकाल अवशेष

इस पोस्ट में आपको  हरियाणा का भूगोल / Geography of Haryana in Hindi , हरयाणा हिंदी हरियाणा का पहनावा हरियाणा का भाषा हरियाणा का साक्षरता दर हरियाणा का रहन सहन हरियाणा का सबसे छोटा गांव हरियाणा का सबसे बड़ा जिला हरियाणा का सबसे बड़ा गांवहरियाणा की  झीलें , हरियाणा की प्रमुख नदियां , हरियाणा की प्रमुख फसलें के बारे में बताया गया है .अगर इसके अलवा कोई भी सवाल या सुझाव होतो नीचे कमेंट करे .

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!