Class 9th Science Chapter 13. हम बीमार क्यों होते हैं ?

Class 9th Science Chapter 13. हम बीमार क्यों होते हैं ?

NCERT Solutions for Class 9th Science chapter- 13. हम बीमार क्यों होते हैं ? – जो विद्यार्थी 9th कक्षा में पढ़ रहे है ,उन सब का सपना होता है कि वे अपनी कक्षा में अच्छे अंक से पास हो ,ताकि उन्हें आगे एडमिशन या किसी नौकरी के लिए फॉर्म अप्लाई करने में कोई दिक्कत न आए .इसलिए आज हमने इस पोस्ट में एनसीईआरटी कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 13 (हम बीमार क्यों होते हैं ?) का सलूशन दिया गया है जोकि एक सरल भाषा में दिया है . क्योंकि किताब से कई बार विद्यार्थी को प्रश्न समझ में नही आते .इसलिए यहाँ NCERT Solutions For Class 9th Chapter 13. Why Do We Fall Ill ? दिया गया है. जो विद्यार्थी 9th कक्षा में पढ़ रहे है उन्हें इसे अवश्य देखना चाहिए . इसकी मदद से आप अपनी परीक्षा में अछे अंक प्राप्त कर सकते है. इसलिए आप Ch .13 हम बीमार क्यों होते हैं ? के प्रश्न उत्तरों ध्यान से पढिए ,यह आपके लिए फायदेमंद होंगे

पाठ्य-पुस्तक के प्रश्न (Textual Questions)

प्रश्न 1. अच्छे स्वास्थ्य की दो आवश्यक स्थितियां बताओ।

उत्तर- अच्छे स्वास्थ्य के लिए व्यक्ति की शारीरिक, मानसिक और सामाजिक स्थितियों का अच्छा होना आवश्यक है।

प्रश्न 2. रोगमुक्ति की कोई दो आवश्यक परिस्थितियां बताइए।

उत्तर- (i) सामुदायिक स्वच्छता (ii) अच्छा भोजन।

प्रश्न 3. क्या उपरोक्त प्रश्नों के उत्तर एक जैसे हैं अथवा भिन, क्यों ?

उत्तर- दोनों के उत्तर सामान है क्योंकि अच्छे स्वास्थ्य का अर्थ है : रोग मुक्ति । यह तभी संभव है जब हमारा वातावरण भी स्वास्थ्य हो   व्यक्तिगत स्वास्थ्य सामजिक स्वास्थ्य से जुड़ा हैं।

प्रश्न 4. ऐसे तीन कारण लिखिए जिससे आप सोचते हैं कि आप बीमार हैं और चिकित्सक के पास जाना चाहते हैं। यदि इनमें से एक भी लक्षण हो तो क्या आप फिर भी चिकित्सक के पास जाना चाहोगे ? क्यों अथवा क्यों नहीं ?

उत्तर- तीन कारण हैं-सिरदर्द, खांसी, दस्त।

यदि इनमें से एक भी लक्षण हो तो चिकित्सक के पास जाना चाहेंगे क्योंकि रोग का कोई एक लक्षण केवल शरीर में उत्पन्न खराबी की ओर संकेत करता है। इनसे यह पता नहीं चलता कि कौन सा रोग है। सिरदर्द दर्जनों बीमारियों में हो सकता है और खांसी भी अनेक बीमारियों की लक्षण हो सकती है। दस्त किसी एक ही कारण से नहीं बल्कि अनेक कारणों से लग सकते हैं। इसलिए आवश्यक है कि चिकित्सक के पास जाकर सभी आवश्यक परीक्षण करवा लिए जाएं।

प्रश्न 5. निम्नलिखित में से किसके लंबे समय तक रहने के कारण आप समझते हैं कि आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ेगा तथा क्यों ?
  • यदि आप पीलिया से ग्रस्त हैं ?
  • यदि आपके शरीर पर जू (lice) है।
  • यदि आप मुंहासे से ग्रस्त हैं ?

उत्तर- यदि आप पीलिया से लंबे समय से ग्रस्त हैं तो यह स्वास्थ्य के लिए बहुत खराब है क्योंकि इसका संबंध यकृत से है। उसके लिए हीपेटाइटिस की प्रकार की जांच और उपचार होना चाहिए। जू तथा मुंहासे तीव्र प्रभाव दिखाते हैं और सरलता से दूर हो सकते हैं और उनका शरीर पर प्रभाव देर तक नहीं रहता।

प्रश्न 6. जब आप बीमार होते हैं तो आपको सुपाच्य तथा पोषण युक्त भोजन करने का परामर्श क्यों दिया जाता है ?

 उत्तर- बीमार होने पर सुपाच्य एवं पोषाणयुक्त भोजन द्वारा हमारा स्वास्थ्य सही रहता हैं | भोजन हमें ऊर्जा देता हैं तथा हमारे टूटे – फूटे उतकों की मरम्मत करता हैं.

प्रश्न 7. संक्रामक रोग फैलने की विभिन्न विधियां कौन-कौन सी हैं ?

उत्तर- संक्रामक रोग मुख्य रूप से वायु, जल और लैंगिक संपर्क के माध्यम से फैलते हैं। सूक्ष्मजीवीय कारक अनेक तरीकों से किसी रोगी व्यक्ति से स्वस्थ व्यक्ति तक फैलते हैं जिन्हें निम्नलिखित आधारों पर स्पष्ट कर सकते हैं

(i) हवा से- ऐसे रोगों के सूक्ष्म जीव मनुष्य के हवा में छींकने, खाँसने, बात करने के द्वारा फैलते हैं| ये सूक्ष्म जीव हवा में मौजूद धूलकण, या पानी की बूँदों द्वारा अन्य लोगों तक पहुँच सकते हैं| उदाहरण के लिए, खाँसी-जुकाम, निमोनिया तथा क्षय रोग हवा द्वारा फैलते हैं|

(ii) पानी से -जब संक्रमणीय रोग से ग्रसित रोगी के अपशिष्ट पेयजल में मिल जाते हैं और यदि कोई स्वस्थ व्यक्ति जाने-अनजाने में इस जल को पीता है तो रोगाणुओं को एक नया पोषी मिल जाता है जिससे वह भी इस रोग से ग्रसित हो जाता है| जैसे- कोलेरा|

(iii) लैंगिक संपर्क से- कुछ सूक्ष्मजीवीय रोग जैसे सिफलिस अथवा एड्स लैगिक संपर्क के समय एक साथी से दूसरे साथी में स्थानांतरित होता है ।

(iv) जंतुओं के द्वारा- मच्छर, मक्खी, पिस्सू आदि संक्रमण करने वाले कारक हैं जो रोगाणुओं को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक पहुंचा देते हैं। संक्रमित कुत्ता, बंदर, नेवला आदि जंतु भी रेबीज़ फैलाते हैं। उनकी लार से ये रोग फैलता है।

प्रश्न 8. संक्रामक रोगों को फैलने से रोकने के लिए आपके अपने विद्यालय में कौन-कौन सी सावधानियां आवश्यक हैं ?

उत्तर- (1) विद्यार्थियों को साफ-स्वच्छ रहने, प्रतिदिन नहाने, शारीरिक स्वच्छता और व्यक्तिगत सफाई के लिए प्रेरित करना चाहिए।
(2) मल-मूत्र तथा अपशिष्ट का निपटान ठीक प्रकार से होना चाहिए।
(3) खुले स्थानों पर मल त्याग पूरी तरह प्रतिबंधित होना चाहिए।
(4) सीवर व्यवस्था बहुत अच्छी होनी चाहिए।
(5) विद्यालय में कैंटीन में कटे हुए फल, बिना ढकी खाद्य सामग्री आदि प्रतिबंधित होनी चाहिए।
(6) संक्रामक रोगों से ग्रसित विद्यार्थियों को तब तक विद्यालय में आने से रोक दिया जाना चाहिए जब तक वे पूरी तरह स्वस्थ न हो जाएं।
(7) मच्छर, मक्खी आदि को नष्ट कर देना चाहिए।
(8) समय-समय पर विद्यार्थियों को संक्रमण पर रोक पाने के लिए टीकों का प्रबंध करना चाहिए।

प्रश्न 9. प्रतिरक्षीकरण क्या है ?

उत्तर- प्रतिरक्षीकरण को संक्रमित रोगों से शरीर की सुरक्षा के रूप में परिभाषित किया जाता है, यह उन रोगाणुओं की नक़ल करता है जो टीके द्वारा शरीर में पहुँचाए जाते हैं।

प्रश्न 10. आपके पास में स्थित स्वास्थ्य केंद्र में टीकाकरण के कौन-से कार्यक्रम उपलब्ध हैं ? आपके क्षेत्र में कौन-कौन सी स्वास्थ्य संबंधी मुख्य समस्या है ?

उत्तर- हमारे आस-पास स्थित स्वास्थ्य केंद्र में डीपीटी (डिप्थीरिया, पर्टुसिस (काली खाँसी), टेटनस), पोलियो का टीका, हेपेटाइटिस B, एमएमआर, पीलिया, टाइफाइड टीकाकरण के कार्यक्रम उपलब्ध हैं| इन सभी रोगों में पीलिया और टाइफाइड स्वास्थ्य संबंधी मुख्य समस्याएँ हैं

अभ्यास के प्रश्न

प्रश्न 1. पिछले एक वर्ष में आप कितनी बार बीमार हुए ? बीमारी क्या थी ?
(a) इन बीमारियों को हटाने के लिए अपनी दिनचर्या में क्या परिवर्तन करेंगे ?
(b) इन बीमारियों से बचने के लिए आप अपन, पड़ोस में क्या परिवर्तन करना चाहेंगे ?

उत्तर- पिछले एक वर्ष में मैं दो बार बीमार हुई। पहली बार मुझे वाइरल बुखार हुआ और दूसरी बार मलेरिया हुआ था।

(क) बीमारी से बचने के लिए प्रतिरक्षा तंत्र का सबल होना आवश्यक है। इसलिए पौष्टिक और संतुलित भोजन खाना पसंद करूंगी। मलेरिया से बचने के लिए मच्छरदानी का प्रयोग करूंगी। मच्छर घर में प्रवेश न कर सकें-ऐसा प्रबंध करूंगी।

(ख) मैं अपने आस-पड़ोस में रुके हुए पानी के स्रोतों को दूर करना चाहूंगी। बंद पड़े कूलरों में भरे पानी, जगहजगह पानी से भरे बर्तनों को खाली करवाना चाहूंगी। घर के बाहर रुकी हुई गंदी नालियों को साफ कराना चाहूंगी ताकि उनमें मच्छर न पनप सकें। घर से कुछ दूर जोहड़ पर मिट्टी के तेल का छिड़काव कराना चाहूंगी ताकि मच्छरों के लारवा नष्ट हो जाएं।

प्रश्न 2. डॉक्टर/नर्स/स्वास्थ्य कर्मचारी अन्य व्यक्तियों की अपेक्षा रोगियों के संपर्क में अधिक रहते हैं। पता करो कि वे अपने-आपको बीमार होने से कैसे बचाते हैं ?

उत्तर- डॉक्टर/ नर्स/स्वास्थ्य-कर्मचारी द्वारा निम्नलिखित सावधानियाँ बरती जाती हैं:
• बीमार व्यक्ति के संपर्क में आने पर मास्क पहनना।
• संक्रमित स्थान में रहने पर स्वयं को ढँककर रखना।
• स्वच्छ पानी पीना।
• स्वस्थ तथा पौष्टिक भोजन खाना।
• उचित सफाई तथा व्यक्तिगत स्वच्छता सुनिश्चित करना।

प्रश्न 3. अपने आस-पड़ोस में एक सर्वेक्षण करें और पता लगाइए कि कौन-सी तीन बीमारियां सामान्यतः होती हैं ? इन बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए अपने स्थानीय प्रशासन को तीन सुझाव दें।

उत्तर- हमारे आस-पड़ोस में लोगों को सामान्यतः दस्त, मलेरिया और वाइरल बुखार होता है। इन बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए स्थानीय प्रशासन को चाहिए कि

(i) सड़क के किनारों पर बनी नालियों की नियमित सफाई करायें। उनमें गंदा पानी खड़ा न होने दें।
(ii) नागरिकों को दी जाने वाली जल आपूर्ति क्लोरीन युक्त होनी चाहिए।
(iii) जगह-जगह खड़े पानी पर मिट्टी के तेल का छिड़काव कराना चाहिए ताकि मच्छरों की वृधि रुक सके।

प्रश्न 4. एक बच्चा अपनी बीमारी के विषय में नहीं बता पा रहा है। हम कैसे पता करेंगे कि
(a) बच्चा बीमार है ?
(b) उसे कौन-सी बीमारी है ?

उत्तर- (a) बच्चा रोयेगा, कुछ भी खाना पसंद नहीं करेगा, उल्टी-दस्त करेगा, बेचैन होगा, निढाल पड़ा रहेगा, सुस्त हो जाएगा, उसका नाक बहेगा, छींके मारेगा, खांसी करेगा।

(b) वह बार-बार उस अंग को स्पर्श करेगा जहां उसे कष्ट है। वह उसी तरफ झुकेगा, अकड़ेगा।

प्रश्न 5. निम्नलिखित किन परिस्थितियों में कोई व्यक्ति पुनः बीमार हो सकता है ?
(a) जब वह मलेरिया से ठीक हो रहा है ?
(b) वह मलेरिया से ठीक हो चुका है और चेचक के रोगी की सेवा कर रहा है।
(c) मलेरिया से ठीक होने के बाद चार दिन उपवास करता है और चेचक के रोगी की सेवा कर रहा है ? क्यों ?

उत्तर- (c) मलेरिया से ठीक होने के बाद चार दिन उपवास करता है और चेचक के रोगी की सेवा कर रहा है।

कारण-  बीमारी के बाद उसके शरीर में स्वाभाविक कमजोरी आएगी। उस कमजोरी से उसके शरीर की प्रतिरक्षी क्षमता कम हो जाएगी जिसकी पूर्ति पौष्टिक और सुपाच्य भोजन से होनी थी पर चार दिन उपवास करने से प्रतिरक्षी क्षमता और भी कम हो जाएगी। चेचक एक संक्रामक रोग है जिसका संक्रमण शीघ्र हो सकता है। वह उस कमजोर व्यक्ति को अपना शिकार बना लेगा।

प्रश्न 6. निम्नलिखित में से किन परिस्थितियों में आप बीमार हो सकते हैं ? क्यों ?
(a) जब आपकी परीक्षा का समय है ?
(b) जब आप बस तथा रेलगाड़ी में दो दिन तक यात्रा कर चुके हैं।
(c) जब आपका मित्र खसरा से पीड़ित है। क्यों ?

उत्तर- (c) जब आपका मित्र खसरा से पीड़ित हैं।
खसरा एक संक्रामक रोग है। मित्र के साथ खेलने, बैठने-उठने, बातें करने, एक साथ खाने, उसकी वस्तुओं को छुने आदि से खसरा के वाइरस हमें संक्रमित कर देंगे और हम भी उसी रोग से ग्रसित हो जाएंगे।

हम बीमार क्यों होते हैं के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर 

इस पोस्ट में आपको Class 9th Science Chapter 13 Hum bimar kyu hote hai Questions कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 13 के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर Notes of Class 9th: Ch 13 हम बीमार क्यों होते हैं,एनसीईआरटी समाधान कक्षा 9 विज्ञान अध्याय 13. हम बीमार क्यों होते है , class 9 science chapter 13 question answer in hindi नसरत सोलूशन्स फॉर साइंस क्लास 9th चैप्टर 13.हम बीमार क्यों होते है why do we fall ill class 9 question answers why do we fall ill class 9 ncert notes, why do we fall ill in hindi,  Science Class 9th Chapter 13. हम बीमार क्यों होते है ,से संबंधित पूरी जानकारी दी गई है अगर इसके बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो नीचे कमेंट करके हम से जरूर पूछें और अगर आपको यह जानकारी फायदेमंद लगे तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें.

NCERT Solutions for Class 9 Science (Hindi Medium)

1 Comment
  1. Rahul says

    7 Question

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!