एग्रीकल्चर क्या है सब्जेक्ट विभाग कोर्स नौकरी

एग्रीकल्चर क्या है सब्जेक्ट विभाग कोर्स नौकरी

जब हम 12वीं पास करते हैं तो उसके बाद हमारे दिमाग में बहुत से सवाल उठते हैं कि आगे हम अपने करियर के लिए क्या करें तो इसके लिए हम बहुत से लोगों से जानकारी लेते हैं कि आगे मैं क्या करूं लेकिन कई लोग आपको बैंकिंग अध्यापक डॉक्टर आदि के बारे में पढ़ाई करने की सलाह देते हैं लेकिन आप जरूरी नहीं है कि इन सभी के बारे में पढ़ाई करें इसके अलावा और भी विकल्प होता है यदि आपने 12वीं अच्छे अंको से पास की है और यदि आपकी रुचि कृषि से संबंधित ज्यादा है तो अब कृषि क्षेत्र में भी अपना अच्छा कैरियर बना सकते हैं

क्योंकि भारत एक कृषि प्रधान देश है भारत में सबसे ज्यादा कृषि की जाती है भारत की लगभग 64% आबादी कृषि क्षेत्र से जुड़ी हुई है भारत में ग्रामीण क्षेत्रों में लगभग सभी लोग ऐसे ही करते हैं लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को कृषि करने की ज्यादा जानकारी नहीं होती है और दिन प्रतिदिन भारत में कृषि क्षेत्र में बहुत वृद्धि होती जा रही है इसलिए अगर आप किसी क्षेत्र में अपना अच्छा कैरियर बनाते हैं तो भविष्य में आप कृषि के उत्पादों की अच्छी मार्केटिंग कर के पैसा कमा सकते हैं.

इस पोस्ट में आपको एग्रीकल्चर के विषय, एग्रीकल्चर क्या है, एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग, एग्रीकल्चर कोर्स, एग्रीकल्चर के सब्जेक्ट, एग्रीकल्चर नौकरी, एग्रीकल्चर विभाग, एग्रीकल्चर इन इंडिया के बारे में बताया जायेगा .

ITI क्या है आईटीआई की पूरी जानकारी

एग्रीकल्चर से सम्बंधित कोर्स

भारत में बहुत सी एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी है जोकि एग्रीकल्चर कोर्से करवाती है यदि आप भी 12th पास कर चुके हैं और आपकी कृषि क्षेत्र में बहुत रुचि है और आप कृषि क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आप एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी से कोर्स करके कृषि क्षेत्र में अपना एक अच्छा कैरियर बना सकते हैं कृषि क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने के लिए आपको फिजिक्स केमेस्ट्री मैथमेटिक्स बायोलॉजी के साथ 12वीं करनी होती है उसके बाद ही आप एग्रीकल्चर कोर्स कर सकते हैं एग्रीकल्चर कोर्स 3 तरह के होते हैं जैसे:-

  • बैचलर ऑफ़ साइंस (SC) (एग्रीकल्चर)
  • मास्टर ऑफ़ साइंस (SC) (एग्रीकल्चर)
  • मास्टर ऑफ़ साइंस (SC) (डेरी इंजीनियरिंग)

NDA क्या है? आर्मी ऑफिसर कैसे बने

एग्रीकल्चर नौकरी

कृषि क्षेत्र में एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी बहुत से कोर्स करवाती है इन कोर्स को पूरा करने के बाद आप विभिन्न प्रकार के पदों पर नियुक्त किए जाते है. नीचे कुछ ऐसे पद दिए गए हैं, जिन्हें सामान्यतः कृषि विश्वविद्यालय विज्ञापित करते हैं: पादप रोगविज्ञानी, ब्रीडर, कृषि मौसम विज्ञानी, आर्थिक वनस्पति विज्ञानी, अनुसंधान इंजीनियर, सस्य विज्ञानी, वैज्ञानिक, एसोशिएट प्रोफेसर इसके अलावा कुछ अन्य पद जैसे:- सहायक वैज्ञानिक, सहायक प्रोफेसर, जिला विस्तार विशेषज्ञ, सहायक पादप रोगविज्ञानी, सहायक बैक्टीरियोलोजिस्ट, सहायक वनस्पति विज्ञानी सहायक मृदा रसायन, सहायक मृदा विज्ञानी, सहायक आर्थिक वनस्पति विज्ञानी, सहायक फल ब्रीडर, सहायक बीज अनुसंधान अधिकारी, कनिष्ठ कीट विज्ञानी, सहायक ब्रीडर, कनिष्ठ ब्रीडर, कनिष्ठ सस्य विज्ञानी, सहायक पौधा वनस्पति विज्ञानी, बीज उत्पादन सहायक, सहायक अनुसंधान वैज्ञानिक, सहायक पादप शरीर विज्ञानी आदि.

CA क्या होता है Chartered Accountant बनने के लिए क्या करे

टॉप 10 एग्रीकल्चर कॉलेज इन इंडिया

1. आचार्य एन.जी. रंगा कृषि विश्वविद्यालय, (ए.एन.जी.आर.ए.यू.), हैदराबाद, आंध्र प्रदेश
2. कृषि विश्वविद्यालय, उदयपुर
3. आणन्द, कृषि विश्वविद्यालय, आणन्द, गुजरात
4. असम कृषि विश्वविद्यालय (ए.ए.यू.), जोरहाट, असम-785013
5. विधान चन्द्र कृषि विश्वविद्यालय (बी.सी.के.वी.वी.), पश्चिम बंगाल
6. बिरसा कृषि विश्वविद्यालय (बी.ए.यू.) रांची, झारखंड
7. केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय (सी.ए.यू.), इम्फाल, मणिपुर
8. केन्द्रीय मात्स्यिकी शिक्षा संस्थान, मुंबई
9. डॉ. पंजाब राव देशमुख कृषि विश्वविद्यालय (पी.के.वी.), अकोला, महाराष्ट्र
10. डॉ. यशवंत सिंह परमार बागवानी एवं वानिकी (आई.एस.पी.यू.एच. एंड ई.), हिमाचल प्रदेश
11. गोविंद वल्लभ पंत कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (जी.वी.पी.ए.यू. एवं टी) पंतनगर, उत्तर प्रदेश
12. गुजरात कृषि विश्वविद्यालय, सरदार कृषि नगर दांतीबाड़ा (बनासकांठा)
13. भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली
14. भारतीय पशु चिकित्सा अनुसंधान संस्थान, इज्जतनगर
15. इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय (आई.जी.के.वी.वी.), कृषकनगर, रायपुर
16. जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय, (जे.एन.के.वी.वी.), जबलपुर, मध्य प्रदेश
17. जूनागढ़ कृषि विश्वविद्यालय, (जे.ए.यू) जूनागढ़, गुजरात
18. कोंकण कृषि विद्यापीठ (के.के.वी.), डोपाली, महाराष्ट्र
19. केरल कृषि विश्वविद्यालय (के.ए.यू.), केरल
20. महाराणा प्रताप कृषि एवं औद्योगिकी विश्वविद्यालय (एम.पी.यू.ए.टी.), उदयपुर, राजस्थान
21. महाराष्ट्र पशु विज्ञान एवं मात्स्यिकी विज्ञान विश्वविद्यालय (एम.ए.एस.एफ.एस.यू.), नागपुर, महाराष्ट्र
22. महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ (एम.पी.के.वी.), महाराष्ट्र
23. मराठवाड़ा कृषि विश्वविद्यालय (एम.ए.यू.) परभणी, महाराष्ट्र
24. नरेन्द्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, नरेन्द्र नगर, फैजाबाद
25. नवसारी कृषि विश्वविद्यालय, (एन.ए.यू.), नवसारी, गुजरात
26. राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान, करनाल
27. उड़ीसा कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, भुवनेश्वर
28. पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, लुधियाना
29. राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय, बीकानेर
30. राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय (आर.ए. यू.), पूसा, समस्तीपुर, बिहार

वकील बनने के लिए क्या करे

बीज कंपनियां

यदि आप किसी क्षेत्र में एग्रीकल्चर कोर्स की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो उसके बाद आपको बीज कंपनी में बहुत से पदों पर जॉब मिलने के चांस होते हैं जिसमें आप जिसमें प्रजनन पादप संरक्षण आदि पद पर कार्य करने का अवसर मिलता है. इसके अलावा आपको दूसरे कार्य करने का भी अवसर मिलता है. जैसे फार्म प्रबंध, भूमि मूल्यांकन, ग्रेडिंग, पैकेजिंग तथा लेवलिंग के क्षेत्रों में भी अवसर विद्यमान हैं। सरकारी तथा निजी दोनों क्षेत्रों में विपणन एवं विव्रय, परिवहन, फार्म उपयोगिता भंडारण और भांडागार के क्षेत्रों में भी कार्य दिए जाते हैं।

कृषि में कार्य के अवसर

कृषि क्षेत्र में एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी बहुत से कोर्स करवाती है इन कोर्स को पूरा करने के बाद आप विभिन्न प्रकार के पदों जॉब मिलती है. भारत एक कृषि प्रधान देश है यहां पर अलग अलग तरह की फसलें उगाई जाती हैं भारत में सबसे ज्यादा फलों और मसालों की खेती की जाती है और इन फलों और मसालों को दूसरे देशों में भी भेजा जाता है .और भारतीय कृषि भारत की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा महत्व रखती है. और भारत में मसाले और फलों की खेती के अलावा और भी खेती की जाती है जैसे मशरूम से लेकर फूलों, मसालों, अनाज, तिलहन तथा वनस्पति जैसी कृषि सामग्रियों के एक निर्यातक के रूप में भारत की बहुत बड़ी संभावनाएं हैं। कृषि-उत्पादों के निर्यात के लिए सरकारी समर्थन मिलने से उन अग्रणी विदेशी कंपनियों के साथ व्यवसाय संस्थाओं में पर्याप्त रुचि उत्पन्न हुई हैं जिन्होंने प्रौद्योगिकी अंतरण करार, विपणन-समझौते तथा प्रबंध एवं व्यापार संबंध स्थापित किए हैं।

कृषि इंजीनियरी

इंजीनियरी की कृषि शाखा अन्य शाखाओं की तुलना में कार्य के बेहतर अवसर देती है। इस शाखा में कार्य कृषि में सुधार, सामान्यतः ग्रामीण क्षेत्रों में पुनर्निर्माण तथा कृषि मशीनरी, पावर, फार्म संरचनाओं, मृदा तथा जल संरक्षण, ग्रामीण विद्युतीकरण आदि के लक्षित गतिविधियों से जुड़े होते हैं.केन्द्र, राज्य तथा जिला स्तरों पर कई ऐसी सरकारी एजेंसियां हैं जो कृषि कर्मचारियों को नियुक्त करती हैं। इसके अतिरिक्त, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर संयुक्त राष्ट्र का खाद्य एवं कृषि संगठन (एफ.ए.ओ.) तथा कृषि के विकास से संबंधित कुछ अन्य एजेंसियां भी परामर्शदाताओं को नियुक्त करती हैं

इस पोस्ट में आपको एग्रीकल्चर क्या है इन हिंदी एग्रीकल्चर में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं एग्रीकल्चर क्या है इन हिंदी एग्रीकल्चर में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते हैं एग्रीकल्चर के विषय एग्रीकल्चर क्या है एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग एग्रीकल्चर कोर्स एग्रीकल्चर के सब्जेक्ट एग्रीकल्चर नौकरी एग्रीकल्चर विभाग एग्रीकल्चर इन इंडिया बीएससी एग्रीकल्चर क्या है बीएससी एग्रीकल्चर इनफार्मेशन इन हिंदी एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग एग्रीकल्चर में करियर के बारे में बताया गया है . यदि आप इस जानकारी के बारे में कुछ और जानना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हम से पूछ सकते हैं और यदि आपको यह जानकारी पसंद आए तो शेयर करना ना भूले.

45 Comments
  1. Rajkumar says

    Abhi sabhi ke life me best platform .
    Meri taraf se

  2. Mahaveer Singh Negi says

    Sir mene diploma in agriculture engineering ki hai sir mujhe private or sarkari job ke raastey bataye taaki mai unhe fill kar saku

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Don\'t Try To Copy ! Content is protected !!