भाषा और वर्ण किसे कहते है

1

भाषा और वर्ण किसे कहते है

इस पोस्ट में हम बात करने वाले है की वर्ण किसे कहते है इस के भेद, वर्ण विचार वर्णों का उच्चारण स्थान वर्ण किसे कहते है, संयुक्त वर्ण हिंदी, वर्णमाला में कितने वर्ण हैं, वर्ण कितने प्रकार के होते हैं.

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है. सामाज में रहते हुए वह अपनी बात दुसरो तक पहुँचाना चाहता है. और दुसरो की बात आप भी समझना चाहता है.उसे भाषा कहते है अर्थात मनुष्य के मुँह से निकली ध्वनियों को भाषा कहते है यह जो दूसरो तक अपनी बात को पहुँचाने का कार्य करती है

भाषा के दो प्रकार है

1. मौखिक भाषा
2. लिखित भाषा

मौखिक भाषा किसे कहते है

मौखिक का अर्थ है. मुख से बोलना यह भाषा का मूल रूप है. जब हम अपने विचारो को मुख के द्वारा बोलकर प्रकट करते है. वह मौखिक भाषा कहलाती है.

लिखित भाषा किसे कहते है

लिखित भाषा का अर्थ है. लिखा हुआ जब हम अपने भाव और विचारो को लिखकर प्रकट करते है. तो उसे लिखित भाषा कहा जाता है.

विशेषण किसे कहते है और इसके भेद उदाहरण सहित

भाषा के अंग

ध्वनि:- मुख से निकलने वाला प्रत्येक स्वतंत्र स्वर ध्वनि कहलाता है. इसका इस्तेमाल सिर्फ मौखिक भाषा में किया जाता है.

वर्ण:- वह छोटी से छोटी इकाई जिसके और टुकड़े न हो सके वह वर्ण कहलाती है. जैसे:- अ,आ,क्,ख् आदि

शब्द :- वर्णो के सार्थक और सुव्यवस्थित मेल को शब्द कहते है. जिसे पानी, अनाज ,विकास आदि.

पद :- वाक्य मी प्रयुक्त शब्द को पद कहा जाता है. शब्द और पद में सिर्फ यही अंतर है. की शब्द शब्दकोस में मिलते है. और पद वाक्य में मिलते है.

वाक्य :- एक विचार को पूर्णता से अभिव्यक्त करने वाले शब्द के समूह को वाक्य कहा जाता है. जैसे मै पढ़ रहा हु., राम खाना खा रहा है आदि.

सर्वनाम किसे कहते है और उसके भेद उदाहरण सहित

वर्ण किसे कहते है

 

भाषा की वह छोटी से छोटी ध्वनि जिसके टुकड़े न किया जा सके उन्हें वर्ण कहते है | जब हम कुछ बोलते है तब जो हमारे मुख से जो ध्वनियों का उच्चारण होता है. इन ध्वनियों को जब हम लिखित रूप देते है. तब इन्हें वर्ण कहा जाता है.

वर्णमाला किसे कहते है

वर्णों के समूह को वर्णमाला कहते है ,हिंदी वर्णमाला में 44 वर्ण होते है – इसमें ग्यारह स्वर ,और तैंतीस व्यंजन होते है | जबकि वर्णों को लिखने की प्रणाली को लिपि कहलाती है

स्वर किसे कहते है

जो स्वर ध्वनि स्वतंत्र रूप से बोली जाती है, उन्हें स्वर कहते है. जिन वर्णों को बोलने में किसी की सहायता न लेनी पड़े उन्हें स्वर कहते है. हिंदी वर्णमाला में कुछ 11 स्वर है.

स्वर तीन प्रकार के होते है

1. ह्रस्व स्वर
2. दीर्घ स्वर
3. प्लुत स्वर

ह्रस्व स्वर किसे कहते है

जिन स्वरों के बोलने में कम से कम समय लगे उन्हें ह्रस्व स्वर कहते है. ये चार संख्या में है. जैसे अ,इ,उ,ऋ |

दीर्घ स्वर किसे कहते है

जिन स्वरों के बोलने में ह्रस्व स्वर से दोगुना समय लगे उन्हें दीर्घ स्वर कहा जाता है. ये सात होते है. जैसे आ,ई,ऊ,ए,ऐ,ओ,औ |

प्लुत स्वर किसे कहते है

जिन स्वरों को बोलने में ह्रस्व स्वर से तिगुना समय लगे ,उसे प्लुत स्वर कहते है :- जैसे – ओउम , राम

व्यंजन किसे कहते है

जो वर्ण स्वरों की सहायता से बोले जाते है, वे व्यंजन कहलाते है, इनकी संख्या तैंतीस होती है:- जैसे – क ( क+अ ), च ( च +अ ), ट ( ट +अ ), त ( त +अ ) ,प ( प + अ ) आदि

व्यंजन के तीन प्रकार के होते है

स्पर्श व्यंजन किसे कहते है

जिन व्यंजनों का उच्चारण करते समय जीभ मुख के विभिन्न भागो का स्पर्श करती है. उन्हें स्पर्श व्यंजन कहते है क से म तक 25 वर्ण स्पर्श व्यंजन है.

अन्तस्थ व्यंजन किसे कहते है

जिन व्यंजनों का उच्चारण करते समय जीभ मुख के किसी भाग का पूरी तरह से स्पर्श नहीं करती उन्हें अन्तस्थ व्यंजन कहलाते है ये चार होते है जैसे – य, र, ल, व

उष्म व्यंजन किसे कहते है

जिन व्यंजनों के उच्चारण में एक विशेष प्रकार का घर्षण होता है तथा गर्म हवा मुख से बाहर निकलती है , वे उष्म व्यंजन कहलाते है ,यह भी चार होते है जैसे – श,ष,स, ह

आज की इस पोस्ट में हम ने जाना कि वर्ण किसे कहते है इस के भेद, वर्ण विचार वर्णों का उच्चारण स्थान वर्ण किसे कहते है, संयुक्त वर्ण हिंदी, वर्णमाला में कितने वर्ण हैं, वर्ण कितने प्रकार के होते हैं. अगर इसके बारे में कोई और सवाल या सुझाव होतो नीचे कमेंट करके पुच्छे .

1 Comment
  1. Santosh Kumar yadav says

    Tatsam tadvhav

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Don\'t Try To Copy ! Content is protected !!